Ads (728x90)



विश्‍व बैंक की स्‍थापना जुलाई 1944 में आयोजित ब्रेटन वुड्स सम्मेलन में हुई थी इस बैठक में 43 देशों ने भाग लिया था इस संस्‍था की स्‍थापना करने का मुख्‍य उद्देश्‍य विश्‍व युद्ध में बरबाद हो चुकी अर्थव्‍यवस्‍था का पुनर्निमाण करना था तो आइये जानते हैं विश्व बैंक के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी - Important Information about the World Bank

Important facts about the World Bank

विश्व बैंक के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी - Important Information about the World Bank

  1. विश्‍व बैंक का मुख्‍यालय अमेरिका के शहर वाशिंगटन डीसी में हैं
  2. विश्‍व बैंक में पॉच संस्‍थाऐं शामिल हैं
  3. अंतरराष्ट्रीय पुनर्निर्माण और विकास बैंक (International Bank for Reconstruction and Development - IBRD)
  4. अंतरराष्ट्रीय विकास संघ (International Development Association - ADA)
  5. अंतर्राष्‍ट्रीय वित्‍त निगम (International Finance Corporation - IMF)
  6. बहुपक्षीय निवेश प्रत्‍याभूति एजेंसी (Multilateral Investment Guarantee Agency - MIGA )
  7. निवेश संबंधी विवादों के निपटान
  8. का अंतर्राष्‍ट्रीय केन्‍द्र (International Center for Settlement of Investment Disputes - ICSID)
  9. इनमें से IBRD को विश्‍व कहा जाता है
  10. वर्तमान में 180 देश इस संस्‍था के सदस्‍य हैं विश्‍व बैंक के सदस्‍य बनने के लिए उसे IMF का सदस्‍य होना भी जरूरी है
  11. शुरूआत में विश्व बैंक बांध निर्माण और राजमार्गों के निर्माण जैसी विशिष्ट परियोजनाओं के लिए ऋण देता था
  12. विश्व बैंक केवल विकासशील देशों को ऋण देता है
  13. विश्व बैंक नीति सुधार कार्यक्रमों और परियोजनाओं के लिए ऋण देता है
  14. शुरूआत में विश्व बैंक बांध निर्माण और राजमार्गों के निर्माण जैसी विशिष्ट परियोजनाओं के लिए ऋण देता था
  15. भारत को सबसे पहली बार विश्‍व बैंक द्वारा वर्ष 1948 में 64 विलियन अमेरिकी डॉलर का ऋण दिया गया था


Tag - World Bank facts, information, pictures, World Bank Facts & Figures, Why is the World Bank Important, World Bank, What Is The World Bank, history of world bank



Post a Comment

1. बैंक मंञ को आपके लिये बनाया गया है।
2. इसलिये हम अापसे यहॉ प्रस्‍तुत जानकारी और लेखों के बारे में आपके बहुमूल्‍य विचार और टिप्‍पणी की अपेक्षा रखते हैं।
3. आपकी टिप्‍पणी बैंक मंञ को सुधारने और मजबूत बनाने में हमारी सहायता करेगी।
4. हम आपसे टिप्पणी में सभ्य शब्दों के प्रयोग की अपेक्षा करते हैं।