Ads (728x90)



दामोदरन समिति (Damodaran Committee) ने बैंकिग सेवाओं में सुधार के लिए महत्वपूर्ण बिन्दूओ पर अपनी रिर्पाट भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई)को है तथा इस समिति की अध्यक्षता पूर्व सेबी अध्यक्ष एम0 दामोदर के हाथों में सौपी गयी थी, आईये जानते हैं दामोदरन समिति क्‍या है - What is Damodaran Committee in Hindi 

दामोदरन समिति क्‍या है - What is Damodaran Committee in Hindi

दामोदरन समिति क्‍या है - What is Damodaran Committee in Hindi 

दामोदरन समिति की सिफारिशें (Damodaran Committee recommendations)

  1. होम लोन अकाउण्ट समय पूर्व बन्द कराने की स्थिति में कोई दण्डात्मक शुल्क बैंक द्वारा वसूल नहीं किया जाए। 
  2. बचत खातों में जमा राशि के लिए उपलब्ध बीमा सुरक्षा 1 लाख रुपये की बजाय 5 लाख रुपये तक की जमाओं पर उपलब्ध कराई जाए। 
  3. सावधि जमाओ को खातेदार की लिखित अनुमति के बिना स्वत ही रिन्यू न किया जाए । 
  4. न्यूनतम बैलेन्स से कम बैलेन्स होने की स्थिति में बैंको द्वारा वसूला जाने वाला दण्डात्मक शुल्क उतने अनुपात में ही हों, जितनी राशि से खाते में बैलेन्स कम हुआ हो। 
  5. बचत खातों में चेकबुक व ए0टी0एम कार्ड जैसी सुविधाओ के लिए खाते में न्यून्तम बैंलेस का कोई बन्धन नहीं हो। 
  6. होम लोन के नए ग्राहकों को रियायतो ब्याज दर पर यह लोन उपलब्ध कराए जाने ऐसी रियायत पुराने ग्राहको भी उपलब्ध कराई जाए । 
  7. बैंक ग्राहकों की बैंकिग सम्बन्धी शिकायतों व अन्य सुनवाइयों के लिए सभी बैंको को एक ही काॅमन निःशुल्क काॅल सेन्टर नम्बर ( फोन नम्बर ) हो।
यह भी देखें - 




Post a Comment

1. बैंक मंञ को आपके लिये बनाया गया है।
2. इसलिये हम अापसे यहॉ प्रस्‍तुत जानकारी और लेखों के बारे में आपके बहुमूल्‍य विचार और टिप्‍पणी की अपेक्षा रखते हैं।
3. आपकी टिप्‍पणी बैंक मंञ को सुधारने और मजबूत बनाने में हमारी सहायता करेगी।
4. हम आपसे टिप्पणी में सभ्य शब्दों के प्रयोग की अपेक्षा करते हैं।