Ads (728x90)



भारत में 24 उच्च न्यायालय यानी हाईकोर्ट है इनमें से कुछ उच्च न्यायालय ऐसे भी हैं जिनके अधीन एक से अधिक राज्य आते हैं प्रत्येक उच्च न्यायालय मैं एक मुख्य न्यायाधीश होता है और अन्य न्यायाधीश होते हैं इन न्यायाधीशों की नियुक्ति भारत के राष्ट्रपति द्वारा मुख्य न्यायाधीश और राज्यपाल के परामर्श द्वारा की जाती है तथा इन्हें हटाने के लिए महाभियोग चलाया जाता है आइए जानते हैं भारत के उच्च न्यायालयों और उनके स्थापना वर्ष के बारे में - List of High Courts of India and Establishment Year

भारत के उच्‍च न्‍यायालयों की सूची और स्‍थापना वर्ष - List of High Courts of India and Establishment Year

भारत के उच्‍च न्‍यायालयों की सूची और स्‍थापना वर्ष - List of High Courts of India and Establishment Year

  1. मुंबई उच्च न्यायालय - महाराष्‍ट्र, गोवा, दादरा एवं नगर हवेली और दमन तथा दीव - 1862 
  2. कलकत्‍ता उच्च न्यायालय -  पश्चिम बंगाल - 1862
  3. चेन्‍नई उच्च न्यायालय - तमिलनाडु, पाण्‍डुचेरी - 1862 
  4. इलाहाबाद उच्च न्यायालय - उत्‍तर प्रदेश - 1866
  5. कर्नाटक उच्च न्यायालय -  कनार्टक - 1884
  6. पटना उच्च न्यायालय - बिहार - 1916
  7. जम्‍मू कश्‍मीर उच्च न्यायालय - जम्‍मू कश्‍मीर  - 1928
  8. गुवाहाटी उच्च न्यायालय - अरूणाचल प्रदेश, असम - 1948
  9. उडीसा उच्च न्यायालय - उडीसा - 1948
  10. राजस्‍थान उच्च न्यायालय - राजस्‍थान - 1949
  11. आन्‍ध्रप्रदेश उच्च न्यायालय - आन्‍ध्र प्रदेश व तेलंगाना - 1954
  12. मध्‍यप्रदेश उच्च न्यायालय - मध्‍यप्रदेश - 1956
  13. केरल उच्च न्यायालय - केरल, लक्ष्‍यद्वीप - 1958
  14. गुजरात उच्च न्यायालय - गुजरात - 1960
  15. दिल्‍ली उच्च न्यायालय - दिल्‍ली - 1966
  16. हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय - हिमाचल प्रदेश - 1971
  17. पंजाब-हरियाणा उच्च न्यायालय - पंजाब, हरियाणा, चण्‍डीगढ - 1966
  18. सिक्किम उच्च न्यायालय - सिक्किम - 1975
  19. छत्‍तीसगढ उच्च न्यायालय - छत्‍तीसगढ - 2000
  20. उत्‍तरांचल उच्च न्यायालय - उत्‍तरांचल - 2000
  21. झारखण्‍ड उच्च न्यायालय - झारखण्‍ड - 2000
  22. मणिपुर उच्च न्यायालय - मणिपुर - 2013
  23. मेघालय उच्च न्यायालय - मेघालय - 2013
  24. त्रिपुरा उच्च न्यायालय - त्रिपुरा - 2013 




Post a Comment

1. बैंक मंञ को आपके लिये बनाया गया है।
2. इसलिये हम अापसे यहॉ प्रस्‍तुत जानकारी और लेखों के बारे में आपके बहुमूल्‍य विचार और टिप्‍पणी की अपेक्षा रखते हैं।
3. आपकी टिप्‍पणी बैंक मंञ को सुधारने और मजबूत बनाने में हमारी सहायता करेगी।
4. हम आपसे टिप्पणी में सभ्य शब्दों के प्रयोग की अपेक्षा करते हैं।