Ads (728x90)



वित्‍तीय संस्‍थाएँ (Financial Institutions) ऐसी संस्‍थाएँ होती हैं जो बचतकर्त्‍ता और निवेशकर्त्‍ता के मध्‍य की एक कड़ी होती हैं। ऐसी संस्‍थाएँ बचतों को प्रोत्‍साहित करती हैं और उन्‍हें एकत्र करती हैं। वित्‍तीय संस्‍थान अपनी सेवाएँ व्‍यक्तियों, व्‍यवसाय तथा सरकार को प्रदान करते हैं जो कि परिवर्तित योजनाओं को अपनाना चाहती हैं। आईये जानते हैं विशिष्‍ट क्षेत्रों हेतु विशिष्‍ट वित्‍तीय संस्‍थाएँ - Specific Financial Institutions For Specific Areas in Hindi 

विशिष्‍ट क्षेत्रों हेतु विशिष्‍ट वित्‍तीय संस्‍थाएँ - Specific Financial Institutions For Specific Areas in Hindi

विशिष्‍ट क्षेत्रों हेतु विशिष्‍ट वित्‍तीय संस्‍थाएँ - Specific Financial Institutions For Specific Areas in Hindi 

वित्‍तीय संस्‍थाओं को निम्‍न वर्गों में बाँटा जा सकता है - 
  1. भारतीय औद्योगि‍क ऋण व निवेश निगम(Industrial Credit and Investment Corporation of India, ICICI)- आईसीआईसीआई बैंक की स्‍थापना भारत में वर्ष 1955 में हुई। इसका कार्य निजी क्षेत्र के लघु एवं मध्‍यम उद्योगों के विकास में सहायता करना है। इसका कार्य लघु एवं मध्‍यम उद्योगों को ऋण उपलब्‍ध कराना है तथा उनके विस्‍तार में सहायता प्रदान करना है।
  2. भारतीय औद्योगिक विकास बैंक लिमिटेड( Industrial Development Bank of India Ltd, IDBI)- भारतीय औद्योगिक विकास बैंक लिमिटेड ( आईडीबीआई) बैंक की स्‍थापना वर्ष 1964 में रिजर्व बैंक के अनुषंगी बैंक के रूप में हुई थी तथा वर्ष 1976 में स्‍वतंत्र रूप से प्रभावी हुई। इन बैंकों का कार्य उद्योगों के विकास के लिए न केवल दीर्घकालीन एवं आसान शर्तों पर ऋण उपलब्‍ध करवाना है, बल्कि प्रबन्‍धकीय, तकनीकी, विपणन आदि कार्यों के लिए सुविधा एवं सलाह भी प्रदान करना होता है। अक्‍टूबर, 2004 में इसका निगमीकरण कर इसे वाणिज्यिक बैंक कम्‍पनी बना दिया गया है। 
  3. भारतीय यूनिट ट्रस्‍ट( Unit Trust of India, UTI)- भारतीय यूनिट ट्रस्‍ट(यूटीआई) की स्‍थापना वर्ष 1964 में हुई थी पर सार्वजनिक क्षेत्र में अब यह एक निजी क्षेत्र की कम्‍पनी हो गई है। वर्ष 2001 में US-64 के धराशायी होने के बाद इसका परिचालन UTI-First व UTI Second में किया गया, जिसका परिचालन SBI, LIC, BOB, व PNB द्वारा किया जा रहा था, लेकिन वर्ष 2007 से यूटीआई बैंक का नाम एक्सिस बैंक लिमिटेड हो गया है और अब यह निजी क्षेत्र का बैंक है। 
  4. आयात-निर्यात बैंक( Export-Import Bank, EXIM)- आयात-निर्यात बैंक की स्‍थापना वर्ष 1982 में हुई थी इस बैंक की स्‍थापना का मुख्‍य उद्देश्‍य विदेशी व्‍यापार के वित्‍तपोषण, उसकी सुविधा प्रदान करने और संवर्द्धन के लिए किया गया था इसका मुख्‍यालय मुम्‍बई में स्थित है और इसके कार्यालय विदेशों में भी स्थित हैं।
  5. राष्‍ट्रीय आवास बैंक( National Housing Bank, NHB)- राष्‍ट्रीय आवास बैंक की स्‍थापना वर्ष 1988 में रिजर्व बैंक की सहायक संस्‍था के रूप में हुई थी। इसका मुख्‍य उद्देश्‍य आवासीय वित्‍त उपलब्‍ध कराना है और यह देश में आयात वित्‍त कम्‍पनियों का नियामक व पर्यवेक्षक भी है।
  6. भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक( Small Industries Development Bank of India, SIDBI)- भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक की स्‍थापना वर्ष 1990 में लघु उद्योगों के विकास, वित्‍त एवं संवर्द्धन के लिए की गयी। इसका उद्देश्‍य देश के अतिलघु, लघु और मझोले उघमों को सीधे सहायता देना है। इसका मुख्‍यालय लखनऊ में है तथा भारत में इसके पाँच क्षेत्रीय कार्यालय हैं यह भारतीय मु्द्रा के साथ ही साथ विदेशी मुद्रा में भी ऋण उपलब्‍ध कराता है। 
Tag - types of financial institution, financial institutions definition, financial institutions examples, list of financial institutions, functions of financial institutions, role of financial institutions, classification of financial institutions, types of financial institutions




Post a Comment

1. बैंक मंञ को आपके लिये बनाया गया है।
2. इसलिये हम अापसे यहॉ प्रस्‍तुत जानकारी और लेखों के बारे में आपके बहुमूल्‍य विचार और टिप्‍पणी की अपेक्षा रखते हैं।
3. आपकी टिप्‍पणी बैंक मंञ को सुधारने और मजबूत बनाने में हमारी सहायता करेगी।
4. हम आपसे टिप्पणी में सभ्य शब्दों के प्रयोग की अपेक्षा करते हैं।