Ads (728x90)



मुद्रा बाजार (Money Market) वित्‍त से जुड़ी प्रणाली का एक अंग है, जहां वित्‍त से जुड़ी राशियों का लेन-देन होता है और प्रतिभूतियां लिखित प्रमाणपत्र होती हैं जो ऋण लेने के बदले दी जाती है। आईये जानते हैं मुद्रा बाजार से संबंधित प्रतिभूतियां (Securities Related to Money Market) कौन कौन सी होती हैं -
 
मुद्रा बाजार से संबंधित प्रतिभूतियां - Securities Related to Money Market in Hindi

मुद्रा बाजार से संबंधित प्रतिभूतियां - Securities Related to Money Market in Hindi 

  • याचना राशि (Soliciting Funds)- याचना राशि का प्रयोग मुख्‍यत: बैंकों में अस्‍थायी नकदी की आवश्‍यकता को पूर्ण करने हेतु किया जाता है। अर्थात् जब बैंकों में नकदी की कमी होने लगती है तो उसका प्रंबध अस्‍थायी रूप से करने को ही याचना राशि कहते हैं। इनका पुनर्भुगतान मांग पर देय होता है तथा इसकी परिपक्‍वता अवधि 1 से 15 दिन की होती है। 
  • ट्रेजरी बिल (Treasury Bill)- भारतीय मुद्रा बाजार का एक महत्‍वपूर्ण अंग ट्रेजरी बिल बाजार है। इस बाजार में अल्‍पकालीन सरकारी बिलों का क्रय-विक्रय होता है इन बिलों की बिक्री सरकार की ओर से केंद्रीय बैंक द्वारा की जाती है। अपने तरल कोषों में वृद्धि करने के लिए व्‍यापारिक बैंक इस प्रकार की प्रतिभूतियों को अधिक मात्रा में खरीदते हैं। इसकी तरलता अत्‍यधिक होती है, जिसको धारक द्वारा किसी भी दूसरे पक्ष को स्‍थानान्‍तरित किया जा सकता है या रिजर्व बैंक से भी भुनाया जा सकता है। ये 364 दिन से अधिक के लिए जारी नहीं किए जा सकते। ये अंकित मूल्‍य से कम पर जारी किए जाते हैं पर इनका शोधन अंकित मूल्‍य पर होता है। वर्तमान समय में 14 दिन, 91 दिन, 182 दिन और 364 दिनों की परिपक्‍वता वाले ट्रेजरी बिल जारी किये जाते हैं। 
  • वाणिज्यिक पत्र (Commercial Bill)- मुद्रा बाजार का एक अंग व्‍यापारिक बैंकों का बाजार भी है। इसके अन्‍तर्गत व्‍यापारिक बिलों, प्रतिज्ञा पत्रों तथा हुण्डियों का क्रय-विक्रय होता है, लेकिन यह एक असुरक्षित प्रतिभूति है, जो कंपनियों की कार्यशील पूंजी की आवश्‍यकता पूर्ति हेतु जारी किया जाता है। यह सर्वप्रथम वर्ष 1990 में जारी किया गया था, इसकी अवधि 1 से 15 दिन की होती है। 
  • जमा प्रमाण-पत्र (Certificate of Deposit)- जमा प्रमाण-पत्र एक अल्‍पकालीन प्रलेख है, जो वाणिज्यिक बैंकों द्वारा एवं विशिष्‍ट वित्‍तीय संस्‍थाओं द्वारा निर्गमित किया जाता है। यह हस्‍तान्‍तरणीय है, जिसकी परिपक्‍वता अवधि 91 दिन से 1 वर्ष तक होती है।
Tag - capital market explain in hindi, money market in hindi pdf, money market and capital market in hindi, indian money market in hindi, function of money market in hindi, capital market kya hai, money market instruments in hindi, capital market in hindi 




Post a Comment

1. बैंक मंञ को आपके लिये बनाया गया है।
2. इसलिये हम अापसे यहॉ प्रस्‍तुत जानकारी और लेखों के बारे में आपके बहुमूल्‍य विचार और टिप्‍पणी की अपेक्षा रखते हैं।
3. आपकी टिप्‍पणी बैंक मंञ को सुधारने और मजबूत बनाने में हमारी सहायता करेगी।
4. हम आपसे टिप्पणी में सभ्य शब्दों के प्रयोग की अपेक्षा करते हैं।